19.12.16

कमर दर्द के कारण और इस से निपटने के घरेलु उपचार।



कमर दर्द के कारण और इस से निपटने के घरेलु उपचार।

काम चाहे घर में हो या ऑफिस में, कार्य चाहे खडे़ रहकर करने का हो या बैठकर करने का अक्सर कमर में दर्द हो ही जाता है।
कमर दर्द की वजह से आपको बड़ी परेशानी होती है जिसकी वजह से आपका बैठना या खड़ा रह पाना मुशकिल हो जाता है।
कमर दर्द की इस वजह से मांसपेशियों में तनाव आ जाता है और दर्द तेज होने लगता है।
कमर दर्द से ज्यादातर महिलाएं परेशान रहती है लेकिन अक्सर देखा गया है जो पुरूष बैठकर काम करते हैं उन्हें भी कमर दर्दकी परेशानी होती है।

कमर दर्द के कारण –

कमर दर्द से परेशान वे लोग ज्यादा होते हैं जो भारी सामान को उठा ले ते हैं, या फिर उठाते रहते हैं उन्हें कमर दर्द की परेशानी ज्यादा होती है।
ज्यादा देर तक ठंडे पानी में भीगने से भी कमर दर्द होता है महिलाओं में कमर दर्द का कारण उनका वजन बढ़ना, मासिक धर्म, और श्वेत प्रदर आदि होता है।
आयुर्वेद के अनुसार कमर दर्द की मुख्य वजह है देर रात तक जागना, किसी कठोर सीट पर बैठने से, अधिक ठंडा पानी पीने से, कमर पर किसी तरह की चोट लगने से, या अति मैथुन करने से कमर दर्द होता है।

कमर दर्द से बचने के घरेलू उपाय ::

  1. रोज सुबह सरसों या नारियल के तेल में लहसुन की तीन-चार कलियॉ डालकर (जब तक लहसुन की कलियां काली न हो जायें) गर्म कर लें। ठंडा होने पर इस तेल से कमर की मालिश करें।
  2. नमक मिले गरम पानी में एक तौलिया डालकर निचोड़ लें। इसके बाद पेट के बल लेट जाएं। दर्द के स्थान पर तौलिये से भाप लें। कमर दर्द से राहत पहुंचाने का यह एक अचूक उपाय है।
  3. कढ़ाई में दो-तीन चम्मच नमक डालकर इसे अच्छे से सेक लें। इस नमक को थोड़े मोटे सूती कपड़े में बांधकर पोटली बना लें। कमर पर इस पोटली से सेक करने से भी दर्द से आराम मिलता है।
  4. अजवाइन को तवे के पर थोड़ी धीमी आंच पर सेंक लें। ठंडा होने पर धीरे-धीरे चबाते हुए निगल जाएं। इसके नियमित सेवन से कमर दर्द में लाभ मिलता है।
  5. तिल के तेल की कमर पर मालिश करने से कमर दर्द ठीक हो जाता है तिल के तेल को हल्की आंच में गरम करें और फिर इस तेल को कमर दर्द वाली जगह पर हल्के हाथों से मालिश करें कमर दर्द में जल्द ही राहत मिलेगी।
  6. यदि कमर में दर्द अधिक है तो आप मेथी के तेल की मालिश कमर पर जरूर करें लाभ मिलेगा।
  7. कैल्शियम की कम मात्रा से भी हड्डियां कमजोर हो जाती हैं, इसलिए कैल्शियमयुक्त चीजों का सेवन करें।पान वाला चुना कैल्शियम का अच्छा स्रोत हैं, अगर आपको पथरी की शिकायत नहीं हैं तो गेंहू के दाने के सामान चुना जूस, पानी, या दही में मिला कर नित्य खाए।
  8. हल्दी 100 ग्राम, मेथीदाना 100 ग्राम और आँवला 200 ग्राम – तीनों को पीसकर काँच की शीशी में भरकर रखें | 5 – 5 ग्राम मिश्रण सुबह-शाम गुनगुने पानी से लेने से कंधे, घुटने,कमर एवं जोड़ों के दर्द में आराम मिलता हैं |
  9. सुरजना फली का सेवन करना कमर दर्द में उपयोगी माना गया है, कुछ दिनों तक नियमित रूप से फली का सेवन करने से कमर दर्द की पीड़ा में राहत मिलती है।
  10. सुबह शाम दिन में दो बार दो-दो छुहारे खाते रहें एैसा नियमित कुछ दिनों तक करने सेकमर दर्द में राहत मिलती है।
  11. देशी घी में अदरक का रस मिलाकर पीते रहें, कुछ दिनों तक सेवन करने से कमर दर्द की शिकायत दूर हो जाती है।
  12. मेथी का प्रयोग खाने में करते रहने से भी कमर दर्द में राहत मिलती है मेथी के लडुओं को सेवन नियमित करते रहने से कमर दर्द नहीं होता।
  13. 200 ग्राम दूध में 5 ग्राम एरंड की गिरी को पकाकर, दिन में दो बार सेवन करने से कमर दर्द की पीड़ा जल्दी ठीक हो जाती है।
  14. कमर दर्द में कच्चे आलू की पुल्टिस बांधने से कमर से संबंधित दर्द समाप्त हो जाता है लेकिन नियमित इस का प्रयोग करेगें तभी।
  15. तिल के तेल की कमर पर मालिश करने से कमर दर्द ठीक हो जाता है तिल के तेल को हल्की आंच में गरम करें और फिर इस तेल को कमर दर्द वाली जगह पर हल्के हाथों से मालिश करें कमर दर्द में जल्द ही राहत मिलेगी।
  1. यदि कमर में दर्द अधिक है तो आप मेथी के तेल की मालिश कमर पर जरूर करें लाभ मिलेगा।
  2. गेहूं की बनी रोटी जो एक ओर से नहीं सिकी हो उस पर तिल के तेल को चुपड़कर कमर दर्द वाली जगह पर रखने से कमर दर्द जल्दी ठीक होता है।
  3. गर्मियों में 5 ग्राम और सर्दियों में 15 ग्राम अलसी के बीजो का सेवन नित्य करे। इस से कभी भी आपको कमर दर्द हृदय सम्बंधित या ऐसी हज़ारो बीमारिया नहीं होंगी। अलसी की विस्तृत पोस्ट के लिए आप हमारी दूसरी पोस्ट ज़रूर पढ़े।
  4. गरम पट्टी को कमर पर बांधने से कमर दर्द मे राहत मिलती है, आप गरम पानी में थोड़ा सेंधा नमक डालकर नहाने से भी कमर और पीठ दर्द में राहत मिलती है।
  5. कमर दर्द के लिए व्यायाम भी करना चाहिए। सैर करना, तैरना या साइकिल चलाना सुरक्षित व्यायाम हैं। तैराकी जहां वजन तो कम करती है, वहीं यह कमर के लिए भी लाभकारी है। साइकिल चलाते समय कमर सीधी रखनी चाहिए। व्यायाम करने से मांसपेशियों को ताकत मिलेगी तथा वजन भी नहीं बढ़ेगा।
  6. योग भी कमर दर्द में लाभ पहुंचाता है। भुन्ज्गासन, शलभासन, हलासन, उत्तानपादासन, श्वसन आदि कुछ ऐसे योगासन हैं जो की कमर दर्द में काफी लाभ पहुंचाते हैं। कमर दर्द के योगासनों को योगगुरु की देख रेख में ही करने चाहिए।
  7. अधिक देर तक एक ही पोजीशन में बैठकर काम न करें। हर चालीस मिनट में अपनी कुर्सी से उठकर थोड़ी देर टहल लें।
  8. नर्म गद्देदार सीटों से परहेज करना चाहिए। कमर दर्द के रोगियों को थोड़ा सख्ते बिस्तर बिछाकर सोना चाहिए।
  9. कमर दर्द में भारी वजन उठाते समय या जमीन से किसी भी चीज को उठाते समय कमर के बल ना झुकें बल्कि पहले घुटने मोड़कर नीचे झुकें और जब हाथ नीचे वस्तु तक पहुंच जाए तो उसे उठाकर घुटने को सीधा करते हुए खड़े हो जाएं।
  10. कार चलाते वक्त सीट सख्त होनी चाहिए, बैठने का पोश्चर भी सही रखें और कार ड्राइव करते समय सीट बेल्ट टाइट कर लें।
  11. ऑफिस में काम करते समय कभी भी पीठ के सहारे न बैठें। अपनी पीठ को कुर्सी पर इस तरह टिकाएं कि यह हमेशा सीधी रहे। गर्दन को सीधा रखने के लिए कुर्सी में पीछे की ओर मोटा तौलिया मोड़ कर लगाया जा सकता है।
  12. साथ ही सीधे खड़े होने और सीधे बैठने की आदत को डालें।
कमर दर्द से परेशान होने की जरूरत नहीं है आप इन कारगर घरेलू उपायों के जरिए कमर दर्द से छुटकारा पा सकते हैं लेकिन इसके साथ ही आपको व्यायाम की जरूरत भी है। मौसम के अनुसार कुछ प्रयोग गर्म प्रकृति वाले लोग ना करे। सर्दियों में ये सब प्रयोग किये जा सकते हैं। और इसके साथ में गाय का दूध या गाय का घी ज़रूर सेवन करे।

Share this

0 Comment to "कमर दर्द के कारण और इस से निपटने के घरेलु उपचार।"

Post a Comment